Mahila Samman Saving Certificate Scheme: महिलाओं के लिए सरकार ने शुरू करी शानदार योजना, ऐसे उठाएं लाभ

Mahila Samman Saving Certificate Scheme: केंद्र सरकार समय-समय पर प्रत्येक वर्ग के लोगों के लिए कई योजनाओं की शुरुआत करते रहती है और ऐसी ही एक योजना की शुरुआत सरकार ने इस वर्ष पेश किये गए बजट में देश की महिलाओं के लिए करी, वित्त वर्ष 2023-24 का बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने महिलाओं के लिए एक शानदार बचत स्कीम महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र योजना की घोषणा करी।

आज इस लेख में हम विस्तार से चर्चा करने जा रहे हैं इसी बचत योजना के बारे में, लेख में आगे जानेंगे महिला सम्मान सेविंग सर्टिफिकेट स्कीम क्या है? महिला सम्मान सेविंग सर्टिफिकेट स्कीम में कौन निवेश कर सकता है? महिला सम्मान सेविंग सर्टिफिकेट स्कीम में कितना ब्याज मिलता है, इस योजना में निवेश करने के लिए कौन से दस्तावेजों की जरूरत है तथा इसमें कैसे निवेश किया जा सकता है।

महिला सम्मान सेविंग सर्टिफिकेट स्कीम क्या है?

केंद्रीय वित्त मंत्री, श्रीमती निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण 2023-24 में महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र स्कीम की घोषणा की जो कि, महिलाओं और लड़कियों के लिए एक नई लघु बचत योजना है। सरकार द्वारा इस योजना की घोषणा आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य पर की गई थी।

महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र योजना (Mahila Samman Saving Certificate Scheme) की अवधि दो वर्ष की होगी अर्थात यह अप्रैल 2023 से मार्च 2025 तक के लिए ही उपलब्ध होगी। इस योजना के अंतर्गत देश की महिलाएं 2 वर्षों की अवधि के लिए अधिकतम 2 लाख रुपये निवेश कर सकती हैं और किये गए निवेश पर उन्हें 7.5 फीसदी की दर से ब्याज दिया जाएगा साथ ही निवेश की अवधि यानी 2 वर्ष पूरे होने पर उन्हें निवेश की गई राशि भी लौटा दी जाएगी।

कौन कर सकता है निवेश?

महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र योजना (Mahila Samman Saving Certificate Scheme) महिलाओं के लिए चलाई जा रही एक बचत स्कीम है, इस योजना के तहत कोई भी महिला या लड़की निवेश कर सकती है। हालांकि लड़की के नाबालिग होने की स्थिति में खाता अभिभावक द्वारा भी खोला जा सकता है।

स्कीम के तहत कितना मिलेगा ब्याज?

इस योजना के तहत सरकार महिलाओं को उनके निवेश पर 7.5% का ब्याज देगी, जो इतनी कम राशि तथा छोटी अवधि में किसी अन्य बचत योजना जैसे FD या RD की तुलना में अधिक है। यह ब्याज तिमाही आधार पर संयोजित किया जाएगा और खाते में जमा किया जाएगा।

उदाहरण के तौर पर यदि कोई महिला इस योजना के तहत 2 लाख रुपये का निवेश करती है तो उसे 7.5 फीसदी की दर से पहले साल में 15,000 रुपये का ब्याज मिलेगा, जबकि दूसरे वर्ष उसे 16,125 रुपये का ब्याज प्राप्त होगा। दो वर्षों के पश्चात महिला को रिटर्न के रूप में कुल 2,31,125 रुपये (निवेश की गई राशि + ब्याज) प्राप्त होगी।

निवेश की अवधि एवं राशि

एक बचत खाते में न्यूनतम एक हजार रुपये और उसके पश्चात सौ रुपये के गुणकों में कोई भी राशि जमा की जा सकती है जो अधिकतम 2 लाख रुपये तक हो सकती है, इसके साथ ही एक बार एक निश्चित राशि जमा करने के पश्चात उस खाते में बाद में कोई जमा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

निवेश की अवधि की बात करें तो यह योजना एक ‘वन टाइम निवेश योजना‘ है, जो दो साल की अवधि के साथ आती है। महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र योजना के तहत आंशिक निकासी की सुविधा भी प्रदान की जाती है। गौरतलब है कि कोई महिला अधिकतम 2 लाख रुपयों की सीमा के अधीन कितने भी खाते खोल सकती है हालांकि मौजूदा खाते और अन्य खाता खोलने के बीच तीन महीने का समय अंतराल होना अनिवार्य है।

कैसे करें इस योजना में निवेश

महिला सम्मान बचत प्रमाण पत्र योजना में पोस्ट ऑफिस, किसी भी पब्लिक सेक्‍टर बैंक तथा कुछ चुनिंदा प्राइवेट सेक्‍टर बैंकों के माध्यम से निवेश किया जा सकता है। इच्छुक महिलाएं एवं लड़कियां बचत खाता खोलने के लिए अपने नजदीकी बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस जाकर आवेदन कर सकती हैं।

इसके लिए महिलाओं को एक फॉर्म भरना होगा जिसमें महिला से जुड़ी सभी जानकारियाँ जैसे नाम, पता, नॉमिनी का नाम, निवेश की जाने वाली रकम इत्यादि भरनी होगी। फॉर्म भरने के पश्चात उसके साथ आवश्यक दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट साइज़ फ़ोटो इत्यादि संगलग्न करने होंगे।

बचत खाता खोलने के लिए जरूरी दस्तावेज

महिला सम्मान बचत प्रमाण पत्र योजना में निवेश करने के लिए आवेदक को निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी-

  • हाल ही में खींची गई एक पासपोर्ट साइज़ की फोटो
  • आवेदक का पैन कार्ड
  • आवेदक का आधार कार्ड

समय से पूर्व निकासी के नियम

यदि कोई खाता धारक परिपक्वता की अवधि से पूर्व अपने बचत खाते से निकासी करना चाहता है तो इस योजना में यह सुविधा भी प्रदान करी गई है। योजना के नियमानुसार खाता धारक, खाता खोलने की तारीख से एक वर्ष की समाप्ति के बाद तथा खाते की परिपक्वता से पहले एक बार कुल राशि का अधिकतम 40% तक निकालने के लिए पात्र होगा। इसके लिए खाता धारक को एक प्री-मैच्योर निकासी फॉर्म भर कर बैंक या पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा।

खाते को बंद करने के संबंध में नियम

महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र योजना के अंतर्गत खोला गया खाता परिपक्वता से पहले बंद नहीं किया जा सकता हालांकि कुछ विशेष परिस्थितियों में खाते को परिपक्वता से पहले बंद किया जा सकता है इनमें निम्नलिखित परिस्थितियाँ शामिल हैं-

  • खाताधारक की मृत्यु हो जाने पर
  • खाताधारक को किसी जानलेवा बीमारी के इलाज के लिए पैसों की आवश्यकता हो
  • खाताधारक के अभिभावक की मृत्यु हो जाए जिसके चलते वह खाते का संचालन करने में समर्थ न हो

योजना के संबंध में अन्य बातें

(i) महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र योजना (Mahila Samman Saving Certificate Scheme) देश की मध्यम वर्गीय महिलाओं को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है, कई जानकारों का मानना है कि, निवेश की अधिकतम सीमा केवल 2 लाख तक होने के चलते उच्च आय वर्ग की महिलाओं के लिए यह उतनी कारगर साबित नहीं होगी।

(ii) महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र योजना सरकार द्वारा लॉन्च की गई योजना है, जिसके चलते इस योजना में निवेश किया गया पैसा पूर्ण रूप से सुरक्षित है।

आर्टिकल शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *